पूर्वी चीन

पूर्वी चीन (सरलीकृत चीनी: 华东; पारम्परिक चीनी: 華東) एक भौगोलिक भाग है और मोटे-तौर पर परिभाषित सांस्कृतिक क्षेत्र है जो चीन के पूर्वी तटीय क्षेत्र को अच्छादित करता है।

पूर्वी चीन
श़िंग्जियांग उइघिर स्वायत्तशासी प्रान्ततिब्बतकिंग्घाईगान्सूसिचुआनयून्नानRegión Autónoma Hui de NingxiaRegión Autónoma de Mongolia InteriorShaanxiचोंग्किंग नगरपालिकाGuizhouRegión Autónoma Zhuang de Guangxiशान्श़ीहेनानहुबेईहुनानगुआंग्दोंगHainanहेबेईहिलोंग्जियांगJilinलियाओनिंगबीजिंग नगर निगमतियान्जिन नगर निगमशान्दोंगजियांग्सूअन्हुईशंघाई नगर निगमझेजियांगजियांग्श़ीFujianहांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्रमकाउ विशेष प्रशासनिक क्षेत्रताइवानChina provinces numbered with regional colors.svg
उत्तरपूर्व - उत्तर - उत्तरपूर्व - दक्षिणपश्चिम - दक्षिण मध्य - पूर्वी चीन

प्रशानिक प्रभाग

प्रान्त
चीनी जनवादी गणराज्य द्वारा शासित प्रान्त
नाम चीनी (सरलीकृत) प्रान्तीय राजधानी चीनी काउण्टी स्तरीय प्रभागों की सूची
आनहुएई 安徽 हफ़ेई 合肥 काउण्टी स्तरीय प्रभागों की सूची
फ़ुजियान 福建 फ़ुझोउ 福州 काउण्टी स्तरीय प्रभागों की सूची
जिआंग्सू 江苏 नान्जिंग 南京 काउण्टी स्तरीय प्रभागों की सूची
जिआंग्श़ी 江西 नान्छांग 南昌 काउण्टी स्तरीय प्रभागों की सूची
शान्दोंग 山东 जिनान 济南 काउण्टी स्तरीय प्रभागों की सूची
झेज़ियांग 浙江 हांग्झोउ 杭州 काउण्टी स्तरीय प्रभागों की सूची
नगर निगम
चीनी जनवादी गणराज्य द्वारा शासित प्रान्त
नाम चीनी (सरलीकृत) काउण्टी स्तरीय प्रभागों की सूची
शंघाई 上海 प्रशासनिक प्रभागों की सूची
विवादित प्रान्त
चीनी जनवादी गणराज्य का दावा - *
चीनी गणराज्य का दावा - **
चीनी गणराज्य द्वारा शासित प्रान्त जो चीनी जनवादी गणराज्य द्वारा दावित हैं
नाम चीनी (सरलीकृत) प्रान्तीय राजधानी चीनी काउण्टी स्तरीय प्रभागों की सूची
फ़ूजियान** 福建 फ़ुझोउ*
चिन्चेंग**
福州*
金城**
काउण्टी स्तरीय प्रभागों की सूची*
काउण्टी स्तरीय प्रभागों की सूची**
ताइवान**
ताइवान*
台灣 झोंग्सिंग ग्राम**
ताइपे*
中兴新村**
台北*
प्रशासनिक प्रभागों की सूची**
अनहुइ

अनहुइ (安徽, Anhui) जनवादी गणराज्य चीन का एक प्रांत है। यह पूर्वी चीन में यांग्त्से नदी और हुअई नदी के पार स्थित है। इसकी राजधानी हेफ़ेई शहर है। ऐतिहासिक रूप से यहाँ एक 'वान' (皖, Wan) नामक राज्य हुआ करता था। इस प्रान्त का उत्तरी हिस्सा उत्तरी चीनी मैदान का भाग है जबकि मध्य-उत्तरी हिस्सा हुअई हे नदी के जलसम्भर में आता है। दक्षिण में दाबिए पर्वतों की मौजूदगी से इलाक़ा बहुत पहाड़ी है। प्रान्त के उत्तरी और दक्षिणी हिस्सों में मौसम और अर्थव्यवस्था में बहुत अंतर है। उत्तर में गेंहू और शकरकंदी उगाई जाती है जबकि दक्षिण में चावल। अपने पूर्वी पड़ौसी राज्यों - झेजियांग और जिआंग्सू - के मुक़ाबले में अनहुइ एक पिछड़ा हुआ प्रांत माना जाता है। यहाँ पर बसने वाले अधिकतर लोग हान चीनी जाति के हैं। ऐतिहासिक रूप से अनहुइ हान चीनियों और अन्य जातियों के बीच का सरहदी इलाक़ा था जिस से यहाँ पर बहुत से युद्ध और अस्थिरता रहा करती थी।

उइगुर भाषा

उइग़ुर, जिसे उइग़ुर में उइग़ुर तिलि (ئۇيغۇر تىلى‎‎) या उइग़ुरचे (ئۇيغۇرچە‎‎) कहा जाता है, चीन का शिंच्यांग प्रांत की एक प्रमुख भाषा है, जिसे उइग़ुर समुदाय के लोग अपनी मातृभाषा के रूप में बोलते हैं। उइग़ुर भाषा और उसकी प्राचीन लिपि पूरे मध्य एशिया में और कुछ हद तक भारतीय उपमहाद्वीप के उत्तरी भाग में भी, बहुत प्रभावशाली रहे हैं। सन् २००५ में अनुमानित किया गया था कि उइग़ुर मातृभाषियों कि संख्या लगभग १ से २ करोड़ के बीच है। उईग़ुर भाषा तुर्की भाषा-परिवार की सदस्य मानी जाती है। यह भाषा-परिवार स्वयं अल्ताई भाषा-परिवार की एक शाखा माना जाता है।

क्रा-दाई भाषाएँ

क्रा-दाई भाषाएँ (Kra–Dai languages), जिन्हें ताई-कादाई (Tai-Kadai), दाई और कादाई भी कहा जाता है, पूर्वोत्तर भारत, दक्षिण चीन और दक्षिण-पूर्वी एशिया में बोली जाने वाली सुरभेदी भाषाओं का एक समूह है। इनमें थाई भाषा (थाईलैंड की राष्ट्रभाषा) और लाओ भाषा (लाओस की राष्ट्रभाषा) शामिल है। दुनिया भर में लगभग १० करोड़ लोग क्रा-दाई भाषाएँ बोलते हैं। ऍथनोलॉग भाषा-सूची के मुताबिक़ विश्व में ९२ क्रा-दाई भाषाएँ बोली जाती हैं जिनमें से ७६ इस भाषा-परिवार की काम-ताई (Kam-Tai) शाखा की सदस्य हैं। दक्षिण-पूर्वी चीन के गुइझोऊ और हाइनान प्रान्तों में इन भाषाओं की सबसे ज़्यादा विविधता मिलती है, जिस से भाषावैज्ञानिकों का अनुमान है कि शायद वही इस भाषा-परिवार की गृह-भूमि है जहाँ से यह आसपास के अन्य इलाक़ों में फैली।

चीनी जनवादी गणराज्य

चीनी जनवादी गणराज्य (चीनी: 中华人民共和国) जिसे प्रायः चीन नाम से भी सम्बोधित किया जाता है, पूर्वी एशिया में स्थित एक देश है। १.३ अरब निवासियों के साथ यह विश्व का सर्वाधिक जनसंख्या वाला देश है और ९६,४१,१४४ वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल के साथ यह रूस और कनाडा के बाद विश्व का तीसरा सबसे बड़ा क्षेत्रफल वाला देश है। इतना विशाल क्षेत्रफल होने के कारण इसकी सीमा से लगते देशों की संख्या भी विश्व में सर्वाधिक (रूस के बराबर) है जो इस प्रकार है (उत्तर से दक्षिणावर्त्त): रूस, मंगोलिया, उत्तर कोरिया, वियतनाम, लाओस, म्यान्मार, भारत, भूटान, नेपाल, तिबत देश, अफ़्गानिस्तान, ताजिकिस्तान, किर्गिस्तान और कज़ाख़िस्तान। उत्तर पूर्व में जापान और दक्षिण कोरिया मुख्य भूमि से दूरी पर स्थित हैं।

चीनी जनवादी गणराज्य की स्थापना १ अक्टूबर, १९४९ को हुई थी, जब साम्यवादियों ने गृहयुद्ध में कुओमिन्तांग पर जीत प्राप्त की। कुओमिन्तांग की हार के बाद वे लोग ताइवान या चीनी गणराज्य को चले गए और मुख्यभूमि चीन पर साम्यवादी दल ने साम्यवादी गणराज्य की स्थापना की। लेकिन चीन, ताईवान को अपना स्वायत्त क्षेत्र कहता है जबकि ताइवान का प्रशासन स्वयं को स्वतन्त्र राष्ट्र कहता है। चीनी जनवादी गणराज्य और ताइवान दोनों अपने-अपने को चीन का वैध प्रतिनिधि कहते हैं।

चीन विश्व की सबसे प्राचीन सभ्यताओं में से एक है जो अभी भी अस्तित्व में है। इसकी सभ्यता ५,००० वर्षों से अधिक भी पुरानी है। वर्तमान में यह एक "समाजवादी गणराज्य" है, जिसका नेतृत्व एक दल के हाथों में है, जिसका देश के २२ प्रान्तों, ५ स्वायत्तशासी क्षेत्रों, ४ नगरपालिकाओं और २ विशेष प्रशासनिक क्षेत्रों पर नियन्त्रण है।

चीन विश्व की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थाई सदस्य भी है। यह विश्व का सबसे बड़ा निर्यातक और दूसरा सबसे बड़ा आयातक है और एक मान्यता प्राप्त नाभिकीय महाशक्ति है। चीनी साम्यवादी दल के अधीन रहकर चीन में "समाजवादी बाज़ार अर्थव्यवस्था" को अपनाया जिसके अधीन पूंजीवाद और अधिकारवादी राजनैतिक नियन्त्रण सम्मित्लित है। विश्व के राजनैतिक, आर्थिक और सामाजिक ढाँचे में चीन को २१वीं सदी की अपरिहार्य महाशक्ति के रूप में माना और स्वीकृत किया जाता है।यहाँ की मुख्य भाषा चीनी है जिसका पाम्परिक तथा आधुनिक रूप दोनों रूपों में उपयोग किया जाता है। प्रमुख नगरों में बीजिंग (राजधानी), शंघाई (प्रमुख वित्तीय केन्द्र), हांगकांग, शेन्ज़ेन, ग्वांगझोउ इत्यादी हैं। चीन वर्तमान में जातीय तिब्बतियों, उइगरों और फालुन गोंग के आध्यात्मिक अभ्यास के सदस्यों के खिलाफ मानवाधिकारों

जुरचेन लोग

जुरचेन लोग (जुरचेनी: जुशेन; चीनी: 女真, नुझेन) उत्तर-पूर्वी चीन के मंचूरिया क्षेत्र में बसने वाली एक तुन्गुसी जाति थी। वैसे यह विलुप्त तो नहीं हुई लेकिन १७वीं सदी में उन्होने अपने आप को मान्छु लोग बुलाना शुरू कर दिया और वही उनकी पहचान बन गई। जुरचेनों ने जिन राजवंश की स्थापना की थी जिसने चीन के कुछ हिस्से पर सन् १११५ से १२३४ के काल में शासन किया लेकिन जिसे सन् १२३४ में मंगोल आक्रमणों ने नष्ट कर दिया।

नानचांग

नानचांग (南昌, Nanchang) दक्षिणी-पूर्वी चीन के जिआंगशी प्रांत की राजधानी है। यह उस प्रांत के उत्तर-केन्द्रीय भाग में जिउलिंग पहाड़ों से पश्चिम में और पोयांग झील से पूर्व में स्थित है। नानचांग अपने सौंदर्य, इतिहास और सांस्कृतिक स्थलों के लिए प्रसिद्ध है। सन् २०१० की जनगणना में नानचांग की आबादी ५०,४२,५६५ थी। नानचांग एक चहल-पहल वाला व्यापारिक केंद्र है।

नानजिंग

नानजिंग (चीनी: 南京, अंग्रेज़ी: Nanjing या Nanking) चीन के जियांगसु राज्य की राजधानी है जिसका चीन के इतिहास और संस्कृति में एक बहुत महत्वपूर्ण किरदार रहा है। यह अतीत में कभी-कभी चीन की राष्ट्रीय राजधानी रही है और 'नानजिंग' शब्द का मतलब भी चीनी भाषा में 'दक्षिणी राजधानी' ही है। यह यांग्त्से नदी के अंतिम भाग में उस नदी की डेल्टा में स्थित है। सन् २००६ की जनगणना में नानजिंग की आबादी ५० लाख से अधिक थी और शन्घाई के बाद यह पूर्वी चीन सागर क्षेत्र का दूसरा सब से बड़ा आर्थिक केंद्र है।

पीला सागर

पीत सागर या पीला सागर (चीनी भाषा: 黃海, अंग्रेज़ी: Yellow Sea) पूर्वी चीन सागर के उत्तरी भाग का नाम है, जो स्वयं प्रशांत महासागर का एक हिस्सा है। यह चीन की मुख्यभूमि (मेनलैंड) और कोरिया के बीच स्थित है। यहाँ पर पास के गोबी मरुस्थल से रेत उड़ाती आंधियाँ आकर पीला रेगिस्तानी रेत समुद्र की सतह पर गिरा देती हैं जिस से सागर पीले रंग का लगता है। इसी से इस सागर का नाम पड़ा है। पीले सागर की सबसे अंदरूनी खाड़ी को बोहाई सागर कहते हैं। चीन की प्रसिद्ध पीली नदी (उर्फ़ ह्वांग नदी उर्फ़ ह्वांग हो) बहकर इस सागर में मिलती है और उस में मिश्रित रेत इसे और भी पीला रंग देती है।

पूर्वी चीन सागर

पूर्वी चीन सागर पूर्वी एशिया के पूर्व में स्थित एक समुद्र है। यह प्रशांत महासागर का हिस्सा है और इसका क्षेत्रफल क़रीब १२,४९,००० वर्ग किमी (यानि ७,५०,००० वर्ग मील) है। इसके पश्चिम में चीन है, पूर्व में जापान के क्यूशू और नानसेई द्वीप हैं और दक्षिण में ताईवान है। पूर्वी चीन सागर की सबसे अधिक गहराई लगभग ३,००० मीटर है। चीन की सबसे लम्बी नदी यांगत्सी क्यांग बहकर इसी सागर में मिल जाती है।

प्राचीन चीन

चीन का सबसे पुराना राजवंश है - शिया राजवंश। इनका अस्तित्व एक लोककथा लगता था पर हेनान में पुरातात्विक खुदाई के बाद इसके वजूद की सत्यता सामने आई। प्रथम प्रत्यक्ष राजवंश था -शांग राजवंश, जो पूर्वी चीन में 18वीं से 12 वीं सदी इसा पूर्व पीली नदी के किनारे बस गए। 12वीं सदी ईसा पूर्व में पश्चिम से झाऊ शासकों ने इनपर हमला किया और इनके क्षेत्रों पर अधिकार कर लिया। इन्होने 5वीं सदी ईसा पूर्व तक राज किया। इसके बाद चीन के छोटे राज्य आपसी संघर्ष में भिड़ गए। ईसा पूर्व 221 में किन राजाओं ने चीन का प्रथम बार एकीकरण किया। इन्होने राजा का कार्यालय स्थापित किया और चीनी भाषा का मानकीकरण किया। ईसा पूर्व 220 से 206 ई. तक हान राजवंश के शासकों ने चीन पर राज किया और चीन की संस्कृति पर अपनी अमिट छाप छोड़ी। य़ह प्रभाव अब तक विद्यमान है। इन्होने रेशम मार्ग की भी स्थापना रखी। हानों के पतन के बाद चीन में फिर से अराजकता का माहौल छा गया। सुई राजवंश ने 580 ईस्वी में चान का एकीकरण किया जिसके कुछ ही सालों बाद (614 ई.) इस राजवंश का पतन हो गया।

मातृवंश समूह ऍफ़

मनुष्यों की आनुवंशिकी (यानि जॅनॅटिक्स) में मातृवंश समूह ऍफ़ या माइटोकांड्रिया-डी॰एन॰ए॰ हैपलोग्रुप F एक मातृवंश समूह है। यह मातृवंश समूह जापान, पूर्वी चीन और दक्षिण पूर्वी एशिया में मिलता है।अनुमान है के जिस स्त्री से यह मातृवंश शुरू हुआ वह आज से लगभग ४३,००० वर्ष पहले पूर्वी एशिया की निवासी थी।ध्यान दें के कभी-कभी मातृवंशों और पितृवंशों के नाम मिलते-जुलते होते हैं (जैसे की पितृवंश समूह ऍफ़ और मातृवंश समूह ऍफ़), लेकिन यह केवल एक इत्तेफ़ाक ही है - इनका आपस में कोई सम्बन्ध नहीं है।

यांग्त्सीक्यांग

यांग्त्सीक्यांग, चीन की सबसे लम्बी नदी है, जो सीकांग के पहाड़ी क्षेत्र से निकलकर, दक्षिण-पश्चिम से उत्तर-पूर्व दिशा की ओर बहती हुई, पूर्वी चीन सागर में गिरती है। इसे चांग ज्यांग (Simplified Chinese 长江, Traditional Chinese 長江, Cháng Jiāng) या यांग्त्सी या यांग्ज़ी भी कहते हैं। यह विश्व की तीसरी सबसे लम्बी नदी है। प्रायः पश्चिम से पूर्व की दिशा में बहने वाली इस नदी की लम्बाई लगभग 6300 किलोमीटर है।यह सर्वप्रथम कुछ दूर उच्च पहाड़ी क्षेत्र में बहने के पश्चात् लाल बेसिन में प्रसेश करती है, जहाँ धरातल अत्यंत कटा फटा एवं कुछ असमतल है। यहाँ मिलक्यांग, चुंगक्यांग, सुइनिंग और कयाओलिंगक्यांग सहायक नदियाँ उत्तर से आकर मिलती हैं। ये सभी नाव्य हैं तथा उपजाऊ घाटियाँ बनाती हैं। लाल बेसिन को पार कर यांग्त्सीक्यांग एक गहरी घाटी में बहती हुई समतल भूभाग में प्रवेश करती है। यहाँ कई झीलें मिलती हैं, जिनमें से तीन मिट्टी भर जाने से महत्वपूर्ण थालों का रूप ले चुकी हैं। दो थालों को तो नदी ने दो दो भागों में बाँट दिया है। तीसरा काफी नीचा है, जहाँ कभी कभी बाढ़ आ जाती है। नदी घाटी का यह भाग काफी उपजाऊ है। यहाँ उत्तर से हेन और दक्षिण से सियांग नामक सहायक नदियाँ इसमें आकर मिलती हैं, जो नाव्य हैं। बड़े समुद्री जहाज यांग्त्सीक्यांग द्वारा हैंकाऊ तथा बड़ी नावें और स्टीमर आइशांग तक आ जा सकते हैं। तत्पश्चात् यांग्त्सीक्यांग क्यांगसू प्रांत में डेल्टा बनाती है, जहाँ का भूभाग कुछ पहाडियों को छोड़कर लगभग समतल है। डेल्टा की संपूर्ण समतल भूमि बहुत उपजाऊ है।

यांग्त्सी घाटी के विभिन्न भागों में धान, गेहूँ, जौ, कपास, चाय, ज्वार- बाजरा, मक्का, गन्ना, तंबबाकू, अफीम, तिलहन, मटर, बीन, फल और शाक भाजियाँ आदि उपजते हैं। रेशम का भी यहाँ उत्पादन होता है। अत: कृषि एवं यातायात की सुलभता के कारण संपूर्ण यांग्त्सीघाटी में जनसंख्या बहुत घनी हो गई है।

शंघाई

शंघाई (चीनी: 上海; पिनयिन: ;) चीनी जनवादी गणराज्य का सबसे बड़ा नगर है। यह देश के पूर्वी भाग में यांग्त्ज़े नदी के डेल्टा पर स्थित है। यह अर्थव्यवस्था और जनसंख्या दोनों ही दृष्टि से चीन का सबसे बड़ा नगर है। यह देश की चार नगरपालिकाओं में से एक है और उसी स्तर पर है जिसपर कि चीन का कोई अन्य प्रान्त।

नगर सीमा के भीतर की जनसंख्या ९३ लाख है और पूरी नगरपालिका में १ करोड़ ८१ लाख लोग रहते हैं। १ जनवरी, २००६ की स्थिति तक यहां १ करोड़ ३७ लाख स्थाई निवासी और ४४ लाख अस्थाई निवासी थे जिनके पास रहने का वैध परमिट था। इसके अतिरिक्त यहां ३० लाख लोग अवैध रूप से भी रहते है।

सीरियाई भाषा

सीरियाई (ܠܫܢܐ ܣܘܪܝܝܐ, लेश्शाना सुरयाया) आरामाई भाषा की एक उपभाषा है जो किसी ज़माने में मध्य पूर्व में उर्वर अर्धचंद्र (फ़र्टाइल क्रॅसॅन्ट) के अधिकतर इलाक़े में बोली जाती थी। इसके एक जीवित भाषा के रूप के बोले जाने के अंत के ५०० साल बाद भी यह पहली सदी ईसवी में एक लिखित भाषा के रूप में उभरी और इस क्षेत्र में चौथी से आठवीं शताब्दी तक साहित्य और धर्म की एक महत्वपूर्ण भाषा बन गई। इस काल में सीरियाई इसाई धर्म और संस्कृति जहाँ-जहाँ भी फैली यह भाषा वहाँ पहुँच गई। इसमें भारत का केरल राज्य और पूर्वी चीन शामिल थे। अरबों और कुछ हद तक ईरानियों द्वारा भी, इस भाषा का प्रयोग धर्म से असम्बंधित ज्ञान को फैलाने में भी किया गया। आठवी सदी ईसवी के बाद इस्लाम के आने से इस क्षेत्र में अरबी भाषा का प्रभाव बढ़ा और सीरियाई का प्रयोग ख़त्म होने लगा। भाषावैज्ञानिकों का मानना है कि सीरियाई का अरबी भाषा के विकास पर भी गहरा असर पड़ा। सीरियाई भाषा को सीरियाई वर्णमाला के प्रयोग से लिखा जाता है जो आरामाई लिपि से विकसित हुई थी।

हाइनान

(海南, Hainan) जनवादी गणतंत्र चीन का सबसे छोटा प्रांत है। यह दक्षिण-पूर्वी चीन में दक्षिणी चीन सागर में स्थित एक द्वीप है। पुराने ज़माने में यह गुआंगदोंग प्रान्त का हिस्सा हुआ करता था लेकिन १९८८ में इसे क़रीब २०० अन्य छोटे से द्वीपों के साथ एक नए हाइनान प्रान्त में गठित किया गया। सन् २०१० की जनगणना में हाइनान की आबादी ८६,७१,५१८ थी। हालांकि इसमें २०० के आसपास द्वीप हैं, इस प्रान्त के कुल ३३,९२० वर्ग किमी का ९७% (३२,९०० वर्ग किमी) हाइनान के मुख्य द्वीप में है। तुलना के लिए भारत के केरल राज्य का क्षेत्रफल ३८,८६३ वर्ग किमी है।

चीन की सरकार के अनुसार इस द्वीप से सुदूर दक्षिण में स्थित स्प्रैटली द्वीप-समूह (Spratly Islands) और पैरासेल द्वीप-समूह (Paracel Islands) इसी प्रांत का हिस्सा है, लेकिन अन्य देश इन द्वीपों को चीन का हिस्सा नहीं मानते। हाइनान द्वीप पर हान चीनी लोगों से भिन्न एक ली (黎, Li) नामक लोक-जाति रहती है जो इस द्वीप के मूल निवासी माने जाते हैं। हाइनान की राजधानी हाइकोऊ शहर है, जो द्वीप का सबसे बड़ा नगर भी है।

हेफ़ेई

हेफ़ेई (合肥, Hefei) पूर्वी चीन के अनहुइ प्रांत की राजधानी और सबसे बड़ा शहर है। यह एक उपप्रांत (प्रीफ़ेक्चर, दिजी) का दर्जा रखने वाला एक नगर है। यह अनहुइ प्रांत के केन्द्रीय भाग में स्थित है। सन् २०१० की जनगणना में इसकी आबादी ५७,०२,४६६ अनुमानित की गई थी जिसमें से ३३,५२,०७६ इसके शहरी क्षेत्र में रह रहे थे।

२९ जुलाई

२९ जुलाई ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार वर्ष का २१०वॉ (लीप वर्ष में २११ वॉ) दिन है। साल में अभी और १५५ दिन बाकी है।

३ दिसम्बर

3 दिसंबर ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार वर्ष का 337वॉ (लीप वर्ष में 338 वॉ) दिन है। साल में अभी और 28 दिन बाकी है।

१२३४५६७८९

अन्य भाषाओं में

This page is based on a Wikipedia article written by authors (here).
Text is available under the CC BY-SA 3.0 license; additional terms may apply.
Images, videos and audio are available under their respective licenses.