11 सितंबर

11 सितंबर अंगरेजी की ग्रेगरियन कैलेंडर में साल के 254वाँ दिन बाटे (255वाँ अधिबरिस सभ में)। साल के खतम होखे में अबहिन 112 दिन बचल बाटें।

1 2 3 4 5 6 7
8 9 10 11 12 13 14
15 16 17 18 19 20 21
22 23 24 25 26 27 28
29 30  
  2019 (बुध)
  2018 (मंगर)
ट्यूलिप जोशी

ट्यूलिप जोशी एक ठो भारतीय फिलिम ऐक्ट्रेस बाड़ी। ट्यूलिप जोशी के हिंदी सिनेमा में एक्टिंग करे खातिर बॉलीवुड ऐक्ट्रेस के रूप में जानल जाला।

फ्रीडा पिंटो

फ्रीडा सेलेना पिंटो (जनम 18 अक्टूबर 1984) एक ठो भारतीय अभिनेत्री बाड़ी जे अबतकले मुख्य रूप से अमेरिकी आ ब्रिटिश फिलिम सभ में काम कइले बाड़ी। इनके जनम आ पालन-पोषण मुंबई में भइल आ बचपने में ई निश्चित कर लिहली कि उनके ऐक्ट्रेस बने के बाटे। बिद्यार्थी जीवन में मुंबई के सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज में ऊ नाटकन में हिस्सा लें। ग्रेजुएशन के पढ़ाई के बाद कुछ दिन ले मॉडल के काम कइली आ ओकरे बाद टीवी प्रस्तुतकर्ता बन गइली।

पिंटो के पहिचान मिलल ब्रिटिश फिलिम स्लमडॉग मिलियनेयर (2008) से, जे इनकर पहिली फिलिम रहल। एह फिलिम में ऊ लतिका के रोल में रहली आ एह फिलिम में उनके काम के बहुत तारीफ भी मिलल। एह फिलिम में काम खातिर, पाम स्प्रिंग इंटरनेशनल फिलिम फेस्टिवल में इनके ब्रेकथ्रू परफौरमेंस अवार्ड मिलल आ ब्रिटिश एकेडमी फिल्म अवार्ड के भी कई ठे श्रेणिन में इनकर नामांकन भइल। एकरे अलावा, इनकर नामांकन ऍमटीवी मूवी अवार्ड्स आ टीन च्वाइस अवार्ड्स खातिर भी भइल। एह फिलिम के बाद पिंटो कई ठे अमेरिकी आ ब्रिटिश प्रोडक्शन में बनल फिलिम सभ में लउकली, जवना में ई कई बेर सहजोगी कलाकार के रोल में भी रहली। पिंटो के सभसे बड़ सफलता मिलल साइंस फिक्शन फिलिम राइज ऑफ दि प्लैनेट ऑफ एप्स (2011) से। एकरा बाद, पिंटो के ब्यापक पहिचान मिलल जब ऊ माइकल विंटरबॉटम के फिलिम तृष्णा (2011) में टाइटिल कैरेक्टर के रोल कइली। अगिली फिलिम डेजर्ट डांसर (2014) में इनके परफारमेंस के समालोचक लोग भी सराहल।

हालाँकि, बिदेसी फिलिम सभ में भारतीय नारी के रूढ़ पहिचान तूरे खातिर भारतीय मीडिया पिंटो के तारीफ कइलस बाकिर अभिन ले भारतीय सिनेमा में उनके एह हिसाब से कम पहिचान मिलल बाटे। अपना फिलिम कैरियर के आलावा ऊ नारी सशक्तीकरण खातिर आवाज उठावे आ अन्य मानवतावादी मुद्दा सभ के परमोशन से भी जुड़ल बाड़ी।

बर्की के लड़ाई

बर्की के लड़ाई भारत आ पाकिस्तान के सेना के बीच लड़ल गइल 1965 के युद्धके हिस्सा रहल। बर्की (उर्दू: بركى‎) पाकिस्तान में लाहौर के 6 मील (9.7 किमी) दक्खिन-पूरुब में भारत-पाकिस्तान बार्डर के नजदीक जगह बाटे आ ई लाहौर से इच्छोगिल नहर के पुल द्वारा जुड़ल बाटे। लड़ाई के समय दुनों देस के सेना के संख्या लगभग बराबर रहे। पाकिस्तानी सैनिक नहर के किनारे खाई खन के ओह में से लड़त रहलें आ टैंक आ फाइटर जेट के सपोर्ट भी रहे। भारतीय सेना 11 सितंबर 1965 के एह जगह के जीत लिहलस।

महादेवी वर्मा

महादेवी वर्मा (26 मार्च 1907— 11 सितंबर 1987) हिंदी भाषा के कवी आ लेखिका, शिक्षाबिद आ सामाजिक कार्यकर्ता रहली। इनके हिंदी साहित्य में, छायावादी जुग के लोग में गिनल जाला। कबिता के अलावा निबंध आ संस्मरण लिखली आ इनके भारत सरकार पद्मभूषण सम्मान दिहलस आ भारतीय ज्ञानपीठ द्वारा 1982 में इनका के ज्ञानपीठ पुरस्कार दिहल गइल। इनके सुरुआती पढ़ाई के बाद से आगे के सारा समय इलाहाबाद में बीतल जहाँ, प्रयाग महिला विद्यापीठ के प्रधानाचार्या रहली।

मोहम्मद अली जिन्ना

मोहम्मद अली जिन्ना (محمد علی جناح‎ - जनम नाँव: मोहम्मदअली जिन्नाभाई; 25 दिसंबर 1876 – 11 सितंबर 1948) जिनके पाकिस्तान में क़ायदे-आज़म आ बाबा-ए-कौम के उपाधि से जानल जाला, ब्रिटिश राज के दौरान एगो भारतीय वकील आ राजनीतिक नेता रहलें, इनके पाकिस्तान के संस्थापक मानल जाला आ ई पाकिस्तान के बने के बाद उहाँ के पहिला गवर्नर जनरल बनलें आ अपना निधन तक ले एह पद पर रहलें। पाकिस्तान में इनके जनम दिन पर सार्वजनिक छुट्टी होला।

रति पांडे

रति पांडे (जनम 11 सितंबर 1982) एक ठो भारतीय ऐक्ट्रेस बाड़ी।

विक्टोरिया झील

विक्टोरिया झील (अंगरेजी: Lake Victoria) अफिरका के बिसाल झील सभ में से एगो झील बाटे। झील के नाँव रानी विक्टोरिया की नाँव पर जॉन हैनिंग स्पेक द्वारा रखल गइल रहे जे पहिला यूरोपियन (ब्रिटिश) अदमी रहलें ए झील ले पहुँचे वाला। स्पेक 1858 में नील नदी की निकलले के जगह खोजत-खोजत ए झील ले पहुँचल रहलें। ई अफिरका महादीप पर मीठा पानी के सबसे बड़ झील हवे।

श्रिया सरन

श्रिया सरन एक ठो भारतीय फिलिम ऐक्ट्रेस बाड़ी। श्रेया सरन के हिंदी सिनेमा में एक्टिंग करे खातिर बॉलीवुड ऐक्ट्रेस के रूप में जानल जाला।

हिलैरी मैंटेल

डेमे हिलैरी मैरी मैंटेल, जनम नाँव थॉम्प्सन, (जनम 6 जुलाई 1952), अंगरेजी भाषा के एक ठो लेखिका बाड़ी। इनके लेखन में उपन्यास, कहानी, संस्मरण, आ इतिहासी गल्प (फिक्शन) शामिल बा।हिलैरी के दू बेर मान बुकर पुरस्कार मिल चुकल बा, पहिली बेर 2009 के उपन्यास वूल्फ हाल खातिर आ दूसरी बेर ब्रिंग अप दि बॉडीज खातिर। दू बेर मान बुकर पुरस्कार पावे वाली ई पहिली औरत बाड़ी, इनका पहिले जे एम कोएटज़ी, पीटर कैरी आ जे जी फैरेल के ई पुरस्कार दू बेर मिलल बा। इनके नया उपन्यास दि मिरर एंड दि लाइट लिखल जा रहल बा आ जल्दिये छपे वाला बा।

साल के महीनादिन सभ
जनवरी
फरवरी
मार्च
अप्रैल
मई
जून
जुलाई
अगस्त
सितंबर
अक्टूबर
नवंबर
दिसंबर
सम्बंधित

दुसरी भाषा में

This page is based on a Wikipedia article written by authors (here).
Text is available under the CC BY-SA 3.0 license; additional terms may apply.
Images, videos and audio are available under their respective licenses.