भाषा

भाषा बातचीत क माध्यम हवे जेकरी सहायता से आदमी एक दुसरा से आपन बात कह पावेला आ आपन विचार आ भावना जाहिर क पावेला।[1] भाषा के दूसरी कई गो माध्यम में बदलल ज सकेला जइसे लिखावट में, चित्र में, ब्रेल लिपि में या साउंड रिकार्डिंग क के।

भाषा की बारे में जवना शास्त्र में पढ़ल जाला ओके भाषा विज्ञान कहल जाला।

भाषा क संबंध साहित्यदर्शन से बा। एक भाषा से दुसरे भाषा में बदलाव के अनुवाद भा भाषांतर कहल जाला।

Flickr - boellstiftung - Konferenzauftakt
भाषण देत एगो औरत, भाषा के उदाहरण

इहो देखल जाय

संदर्भ

  1. ब्रिटानिका एनसाइक्लोपीडिया की अनुसार, "language, a system of conventional spoken or written symbols by means of which human beings, as members of a social group and participants in its culture, express themselves. The functions of language include communication, the expression of identity, play, imaginative expression, and emotional release."

बाहरी कड़ी

अंगरेजी

अंगरेजी, भा अंगरेजी भाषा (English language) मूल रूप से इंग्लैंड क भाषा हवे जेवन अब हर ओ देश में बोलल जात बा जहाँ जहाँ अंग्रेज लोग राज कइलें। आज अमेरिका, आस्ट्रेलिया आ न्यूज़ीलैंड जइसन देशन में ई मुख्य भाषा बा आ भारतीय क्षेत्र में भी ए भाषा क प्रचलन बहुत बा। भारत के मिजोरम नीयन कुछ राज्यन में ई सरकारी भाषा हवे।

भाषा बिज्ञान के बँटवारा के हिसाब से अंगरेजी एगो पच्छिमी जर्मनिक भाषा हवे जे मध्यकालीन इंग्लैंड में बोलल जाय आ अब बैस्विक रूप से संपर्क भाषा (लिंग्वा फ़्रैंका) बन चुकल बा। प्राचीन काल में जर्मनिक मूल के एंगल्स नाँव के एगो जनजाति उत्तर-पूरुब दिशा से प्रवास क के इंग्लैंड आइल रहे जिनहन लोग के नाँव में एह भाषा के नाँव के जरि बा। अंतिम रूप से एह भाषा के नाँव बाल्टिक सागर में मौजूद एंग्लिया या एंग्लेन नाँव के प्रायदीप के नाँव पर पड़ल। अपना उच्चारण आ ब्याकरण के हिसाब से ई फ्रायसियन भाषा से सभसे नजदीक हवे, हालाँकि, एकरे शब्दभंडार में कई गो जर्मनिक भाषा सभ के परभाव सुरुआती मध्यकाल में पड़ल आ बाद में एह पर रोमांस भाषा सभ, खासतौर पर फ्रांसीसी आ लैटिन भाषा, के परभाव बहुत ढेर पड़ल।

आइएसबीएन

आइ॰एस॰बी॰एन॰ या पूरा नाँव इंटरनेशनल स्टैंडर्ड बुक नंबर (अंगरेजी: International Standard Book Number) एगो यूनीक नंबर होला जवन किताब के पहिचानक होला।

हर किताब के अलग-अलग संस्करण (रिप्रिंट के ना) के एक ठो अकेल आ एकलौता आइ॰एस॰बी॰एन॰ दिहल जाला। उदाहरण खातिर कौनों किताब अगर पेपरबैक, हार्डकवर आ ई-बुक के रूप में छपे तब तीनों के अलग-अलग आइ॰एस॰बी॰एन॰ होखी। ई तेरह अंक के लंबाई वाला संख्या होला अगर 1 जनवरी 2007 के बाद दिहल गइल होखे आ 10 अंक के होला अगर एह से पहिले दिहल गइल होखे। एह निसानी देवे के तरीका में अलग-अलग देस में भी कुछ अंतर मिले ला आ प्रकाशन संस्था अपना क्षेत्र में केतना नामी बाते एहू के भी धियान में रखल जाला।

आइ॰एस॰बी॰एन॰ के फ़ायदा ई बाटे कि एकरा द्वारा दुनियाँ में कहीं छपल किताब के एक ठो बिसेस पहिचान हासिल हो जाले जेकरा मदद से एकरा के खोजल आ एकर जानकारी साझा करे में सुबिधा हो जाला।

एकर सुरुआती रूप 1967 में लागू 9-अंक के स्टैंडर्ड बुक नंबर (एसबीएन) रहल। 10 अंक के लंबाई वाला कोड के सुरुआत अंतरराष्ट्रीय मानकीकरण संस्था (ISO) द्वारा बनावल गइल आ पहिली बेर ISO 2108 के रूप में छपल।

एही के नियर एक ठो पहिचानक जर्नल आ पत्रिका सभ खातिर भी बा जेकरा के आई॰एस॰एस॰एन॰ (ISSN) कहल जाला, आ संगीत से संबंधित चीज के पहिचानक आई॰एस॰एम॰एन॰ (ISMN) होला।

इंटीग्रेटेड ऑथारिटी फाइल

The Integrated Authority File (जर्मन: Gemeinsame Normdatei, also known as: Universal Authority File) or GND is an international authority file for the organisation of personal names, subject headings and corporate bodies from catalogues. It is used mainly for documentation in libraries and increasingly also by archives and museums. The GND is managed by the German National Library in cooperation with various library networks in German-speaking Europe and other partners. The GND falls under the Creative Commons Zero (CC0) license.

ओगानेस्सन

ओगानेस्सन (अंगरेजी: Oganesson) एगो रासायनिक तत्व हवे। एकर रासायनिक चीन्हा Og (अंगरेजी के कैपिटल अच्छर ओ आ स्माल अच्छर जी) हवे। ई तत्व पीरियाडिक टेबल में सातवाँ पीरियड के तत्व हवे आ सभसे आखिरी ग्रुप, अठारहवाँ ग्रुप में रखल जाला जे नोबल गैस सभ के ग्रुप हवे।

टेनेसीन

टेनेसीन (अंगरेजी: Tennessine) एगो रासायनिक तत्व बा। एकर रासायनिक चीन्हा Ts (अंगरेजी के कैपिटल अच्छर टी आ स्माल अच्छर एस) हवे। ई तत्व के पीरियाडिक टेबल में सातवाँ पीरियड में आ सोरहवाँ ग्रुप में रखल गइल बा।

दिन

दिन, समय के नाप के इकाई के रूप में, लगभग ओह समय के बराबर होला जेतना देरी में पृथ्वी अपना धुरी पर एक चक्कर लगावे ले आ एकरे परिणाम के रूप में एक बेर सुरुज उगे से ले के डूबे आ रात भर के बाद अगिल दिने उगे से ठीक पहिले के बेर तक ले के समय लागे ला। दुसरे अरथ में, आम बोलचाल के भाषा में दिन के मतलब सुरुज उगे से ले के अस्त होखे तक ले के समय के कहल जाला, ई सीजन अनुसार घटत-बढ़त रहे ला।

ढेर तकनीकी रूप से, सुरुज के सापेक्ष पृथिवी के चक्कर के कुल 24 घंटा में बाँटल जाला आ इहे एक दिन के समय होला। तकनीकी रूप से एकर गणना बीच रात से ले के अगिला बीच रात ले के समय के रूप में होला; बीच रात मने कि रात के बारह बजे, जेकरा के तकनीकी रूप से 00.00 AM के रूप में परिभाषित कइल जाला। एह किसिम के परिभाषा अनुसार जवन समय होला ओकरा के सौर दिवस (सोलर डे) कहल जाला।

अउरी सूछम रूप से बिबेचना कइल जाय तब साइडेरियल दिन के गणना कइल जाला जे ज्योतिष आ खगोल शास्त्र में इस्तमाल होले। एक साइडेरियल दिन ठीक ओह समय के बराबर होला जेतना देर में पृथिवी अपना धुरी पर एक चक्कर लगावे ले। काहें से कि पृथ्वी साथे-साथ सुरुज के चक्कर भी लगावे ले, एकदम सटीक नाप तब हो पावे ला अगर बहुत दूर मौजूद तारा सभ (नक्षत्र) के सापेक्ष पृथ्वी के चक्कर के नापल जाय; एही से हिंदी में एकरा के नाक्षत्र दिवस भी कहल जाला।

निहोनियम

निहोनियम (अंगरेजी: Nihonium) एगो रासायनिक तत्व बा। एकर रासायनिक चीन्हा Nh हवे। पीरियाडिक टेबल में ई सातवाँ पीरियड के तत्व हवे आ तेरहवाँ ग्रुप (बोरान समूह) में आवे ला।

नेपाल

नेपाल संविधान के हिसाब से आधिकारिक रूप से संघिय लोकतांत्रिक गणतंत्र नेपाल कहल जायेला, इ दक्षिण एशिया में एगो भूपरिवेष्ठित या स्थलरुद्ध हिमालयी राष्ट्र ह। नेपाल भूगोलीय रूप से एगो सुन्दर देश ह। नेपाल एगो बहुभाषिक, बहुसांस्कृतिक देश ह। नेपाल में नेपाली भाषा के आलावा हिंदी, भोजपुरी, मगही, थारु, मैथिली, अवधी आदि भाषा भी बोलल जायेला। नेपाल के भूगोलीय अवस्थिती अक्षांश 26 डिग्री 22 मिनट से 30 डिग्री 27 मिनट उत्तर और 80 डिग्री 4 मिनट से 88 डिग्री 12 मिनट पूर्वी देशान्तर तक फैलल बा। इ देश के कुल क्षेत्रफल 1,47,181 वर्ग किमी बा। इ क्षेत्रफल पृथ्वी के कुल क्षेत्रफल के हिसाब से 0.03% अउर एशिया महाद्वीप के हिसाब से 0.3% बा । लन्दन स्थित ग्रीनवीच मिनटाइम से पूर्वतर्फ रहला के कारण गौरीशंकर हिमालय नजदिक होके गईल 86 डिग्री 15 मिनेट पूर्वी देशान्तर के आधार पर नेपाल के प्रमाणिक समय 5 घण्टा 45 मिनट रखल गईल बा।

नेपाल के पूर्वी सीमा से पश्चिमी सीमा तक नेपाल के कुल लंबाई 885 कि.मि बा अउर उत्तर से दक्षिण के चौड़ाई एक बराबर नइखे। नेपाल के पूर्वी हिस्सा के अपेक्षा पश्चिमी हिस्सा अधिक चौड़ा बा वैसे मध्य भाग तनिक सिकुड़ल बा अर्थात एकर अधिकतम चौड़ाई 241 किमी आ न्युनतम चौड़ाई 145 किमी बा। ए प्रकार से नेपाल के औसत चौड़ाई 193 किमी बा। नेपाल के उत्तर में चीन के स्वशासित क्षेत्र तिब्बत पड़ेला आ दक्षिण, पूरब आ पश्चिम तीन तरफ से भारत पड़ेला। नेपाल के 85% से अधिक नागरिक हिन्दू धर्म मानेला लोग। इ प्रतिशत भारत के प्रतिशत से अधिक बा, एही से नेपाल विश्व के सबसे अधिक प्रतिशत हिन्दू धर्म माने वालन के देश ह। एगो छोट देश नेपाल के भूगोलीय विविधता बहुत उल्लेखनीय बा। अहिजा तराई के उष्ण फाँट बा त हिमालय के खूब ठंडा क्षेत्र भी अवस्थित बा। संसार के सबसे ऊँच 14 गो शिखर में से आठ गो ऊँच शिखर नेपाल में पड़ेला, जे में संसार के सबसे ऊँच शिखर एवेरेस्ट (जे के नेपाली भाषा में सगरमाथा कहल जायेला) नेपाल आ चीन के सीमा पर स्थित बा। नेपाल के राजधानी आ सब से बड़ शहर काठमांडू ह। काठमांडू, ललितपुर आ भक्तपुर इ तीन गो शहर कुल काठमांडू घाटी में पड़ेला। नेपाल के अन्य प्रमुख शहरन में बा भरतपुर, बिराटनगर, भैरहवा, वीरगञ्ज, जनकपुर, पोखरा, नेपालगञ्ज आ महेन्द्रनगर।

एगो राजतंत्र के रूप में, इतिहास में इ देश पर शाह राजवंश सब से अधिक समय तक शासन कइले बा - 1768 (जवना घड़ी पृथ्वीनारायण शाह छोट छोट राज्यन के एकीकृत करे के शुरू कइलन) से लेकर के 2008 तक।

नेपाल के कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा एक सदी तक कइल गईल जन युद्ध, लगभग नेपाल के सब बड़हन पार्टी द्वारा कई सप्ताह तक चलल आंदोलन राजा के झुके पर मजबूर कर दिहलस आ 22 नवम्बर 2005 के 12 बिंदु पर सहमति खातिर राजा के तैयार होखे के पड़ल। 28 मई 2008 के नेपाल में प्रथम संबिधान सभा खातिर चुनाव भइल जे में लोग के मत रहल की राजतंत्र के खतम कर के बहुपार्टी प्रणाली के अन्तगर्त संघीय लोकतांत्रिक गणतंत्र के स्थापना होखे।

लगातार नेता कुल के कलह के कारण पहिलका संबिधान सभा के चुनाव के बाद भी संबिधान ना बन पावल आ तारीख खतम हो गईल। 2013 में फेर दूसरा हाली मतदान भइल आ देर सबेर संबिधान बन गइल। 20 सितम्बर 2015 के नयका संविधान बनला के साथ लागू हो गईल।

नेपाल एगो विकाशसिल देश ह जहाँ बहुत कम आर्थिक आय बा, मानव विकास सूचकांक के 2014 के रिपोर्ट के अनुसार नेपाल के न्यूनतम आय दर नेपाल के 187 गो देश में से नेपाल के 145वां स्थान पर रखत बा। इ देश लगातार गरीबी आ उच्च स्तर के खाना के कमी से लड़ रहल बा। एतना कुछ के बावजूद भी इ देश तनी विकास दर में सुधार लईले बा, अहिजा के सरकार के कहनाम बा की साल 2022 तक देश के कम से कम विकसित राष्ट्र बना लियाई।

पीरियॉडिक टेबल

पीरियॉडिक टेबल (अंगरेजी: Periodic table, हिंदी: आवर्त सारणी) एगो टेबल या सारणी हवे जौना के प्रयोग रासायनिक तत्वन के बर्गीकरण आ ब्यवस्था बना के देखावल जाला।

भारत

भारत (अंगरेजी: India), चाहे सरकारी रूप से भारत गणराज्य (रिपब्लिक ऑफ़ इंडिया), दक्खिनी एशिया में एगो देश बा। प्राचीन भारतीय साहित्य में एकरा के जम्बूद्वीप, आर्यावर्त, आ अजनाभदेशो कहल गइल बा। भारत, भूगोलीय क्षेत्रफल के हिसाब से विश्व के सातवाँ सबसे बड़हन अउरी जनसंख्या के हिसाब से चीन की बाद दुसरका सबसे बड़ देश बाटे। 2011 के भारतीय जनगणना के हिसाब से इहाँ के कुल जनसंख्या 1.2 अरब बाटे।

भारत के उत्तर में हिमालय पहाड़, दक्खिन में हिन्द महासागर, पच्छिम में अरब सागर आ पूरुब ओर बंगाल के खाड़ी बाटे।

भारत के जमीनी सीमा जेवन देशन की संघे साझा बा उनहन में पच्छिम में पाकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान, उत्तर-पूरब में चीन, नेपाल, आ भूटान अउरी पूरुब ओर बांग्लादेश आ म्याँमार देश बाड़ें। हिन्द महासागर में एकरी दक्खिन-पश्चिम में मालदीव, दक्खिन में श्री लंका अउर दक्खिन-पूरब में इंडोनेशिया हऽ।

हिमालय से निकले वाली नद्दी कुल के ले आवल निक्षेप से उत्तरी भारत के मैदान बनल बा जेवन बहुत ऊपजाऊ बा।

एही मैदान क पच्छिमी तटीय हिस्सा विश्व के सबसे पुरान सभ्यता सिन्धु घाटी सभ्यता के जनम भइल हऽ आ एही उत्तर भारत के मैदान में विश्व के चार गो प्रमुख धर्म:हिंदू, बौद्ध, जैन अउरी सिख धर्म जनम लिहलन अउर विकसित भइलें।

गंगा नदी भारत के राष्ट्रीय नदी बाटे जेवन इहाँ के संस्कृति में बहुत पबित्र मानल जाले।

जहाँ तक भारत के लोगन के सवाल बा जनसंख्या के हिसाब से ई विश्व के सबसे बड़हन लोकतंत्र हऽ। इहवाँ संसदीय प्रणाली के आधार प शासन चलेला आ देश के मुखिया राष्ट्रपति होलें लेकिन परधानमंत्री सभसे शक्तिशाली पद होला।

1991 ई. मे आर्थिक सुधार की बाद भारत के अर्थव्यवस्था में तेज़ वृद्धि देखल गइल बा। भारत नामिक जी॰डी॰पी॰ के अनुसार बिस्व में दसवां सबसे बड़हन आ पी॰पी॰पी॰ की हिसाब से दुनिया में तीसरी सबसे बड़हन अर्थव्यवस्था हऽ।

भारतीय संस्कृति के सभसे मुख्य बिसेसता बा एकर बहुरंगी रूप। भारत में बहुत प्रकार के जाति, प्रजाति आ धर्म के लोग बाटे आ भारत के एक क्षेत्र से दूसरा क्षेत्र में खान-पान, रहन-सहन जइसन चीजन में बहुत अंतर देखे के मिलेला। एकरा बावजूद भारतीय संस्कृति के एगो अलग पहचान बा। अंग्रेज लोग भारत के एही भूगोलिक आ सांस्कृतिक विविधता के देख के ए के एगो उप-महाद्वीप के लोग हालाँकि अब भारतीय एकता आ अखंडता क समर्थक ए शब्द क प्रयोग ना कइल चाहेला लोग।

भोजपुरी

भोजपुरी ( कैथी: 𑂦𑂷𑂔𑂣𑂴𑂩𑂲 सुनीं) भाषाई परिवार के स्तर प एगो इंडो-आर्य भाषा हीया जवन मूल रूप से भारत के मध्य गंगा के मैदान के कुछ हिस्सन में आ नेपाल के तराई वाला कुछ हिस्सन में बोलल जाले। भारत में ई भाषा मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में, बिहार के पच्छिमी में, आ झारखंड के उत्तरी-पच्छिमी इलाका सभ में बोलल जाले।मूल क्षेत्र के अलावा भोजपुरी जाने-बुझे वाला लोगन के बिस्तार बिस्व के सगरी महादीप कुल पर बा। उत्तर प्रदेश मे सबसे जादा भोजपुरी बनारस,बलिया,जौनपुर आउर गोरखपुर मे बोलल जाला।जेन्ने-जेन्ने यूरोपियन कॉलोनी रहल अंग्रेज लोग उत्तरपरदेश आ बिहार से भारी संख्या में मजदूरी करे खातिर लोग के ले गइल जिनहन लोग के भाषा भोजपुरी रहे। एसियाइ देशन में मउरीसस सूरिनाम, गुयाना, त्रिनिदाद आ टोबैगो, फिजी नीयन देश प्रमुख बाड़ें जहाँ भोजपुरी प्रमुख भाषा के रूप में बोलल आ बुझल जाले, चाहे इहाँ भोजपुरी के मूल में अन्य भाषा सभ के तत्व मिल के नाया भाषा सभ के निर्माण भइल बा।

भारत के जनगणना आंकड़ा 2001 के अनुसार भारत में लगभग 3.3 करोड़ भोजपुरी बोले वाला लोग बा। मय बिस्व में भोजपुरी जाने वाला लोगन के संख्या लगभग 7 करोड़ से जादे बा। द टाइम्स ऑफ इंडिया के एगो लेखा में कहल गइल बा कि मय विश्व में भोजपुरी बोले वला 16 करोड़ लोग बाड़ान जे में से 8 करोड़ बिहार आउर 7 करोड़ उत्तर प्रदेश में रहे लें बाकी १करोड़ लोग बचल बिश्व में रहे लें, उत्तर अमेरिका के भोजपुरी संगठन के भी कहनाम बा कि बिस्व में 18 करोड़ अमदी भोजपुरी बोले लें। जनगणना आ हई बात में अंतर एह चलते हो सकेला की ढ़ेर लोग जनगणना में भोजपुरी के आपन महतारी भाषा ना लिखवावस।

मई

मई ग्रेगरियन कैलेंडर के पाँचवाँ महीना ह।

मार्च

मार्च ग्रेगरियन कैलेंडर आ जूलियन कैलेंडर दुनों में तिसरा महीना हऽ। ई महीना 31 दिन के होला आ साल के अइसन दुसरा महीना हवे। एकरा पहिले फरवरी आ एकरे बाद अप्रैल के महीना पड़े लें। उत्तरी गोलार्ध में मार्च के महीना से बसंत के सुरुआत होला जबकि खगोलीय तरीका से 20 या 21 मार्च के बसंत बिसुव (दिन-रात बराबर) पड़े ला आ खगोलीय बसंत के सुरुआत होला। दक्खिनी गोलार्ध में ई पतझड़ के सुरुआत होला।

भारतीय हिसाब से मार्च के महीना में फागुन-चइत के महीना ओभरलैप करे लें आ शिवराति आ होली नियर तिहुआर अक्सरह मार्च के महीना में पड़े लें काहें से कि इनहन के हिंदू पतरा अनुसार पड़े वाला तिथी के आधार पर मनावल जाला।

मॉस्कोवियम

मास्कोवियम (अंगरेजी: Moscovium) एगो सिंथेटिक रासायनिक तत्व हवे। एकर रासायनिक चीन्हा Mc हवे (अंगरेजी के कैपिटल अच्छर एम आ स्माल अच्छर सी)। ई तत्व पीरियाडिक टेबल में सातवाँ पीरियड में आ पनरहवाँ ग्रुप में रखल जाला।

रुथेनियम

रुथेनियम भा रूथेनियम (अंगरेजी: Ruthenium) एक ठो तत्त्व बा।

लिंगानुपात

मानव बिज्ञान आ जनसंख्या बिज्ञान, में लिंगानुपात कौनों जगह के जनसंख्या में आदमी आ औरत सभ के संख्या के अनुपात होला। अधिकतर जीव सभ नियर मनुष्य में भी ई अनुपात 1:1 के होला। पुरा दुनिया में देखल जाय त 107 लड़िका आ 100 लइकी के अनुपात जनम के समय होला, हालाँकि, ई संख्या बैज्ञानिकलोग के मंडली में बिबाद के बिसय भी बाटे। पुरा दुनिया के कुल आँकड़ा देखल जाय तब 100 औरत पर 101 आदमी के अनुपात पावल जाला, आ लगभग 0.1 % से 1.7 % आबादी बीच के लिंग वाला लोग के बाटे (ई परिभाषा पर निर्भर करे ला)।भारत में लिंगानुपात प्रति 1000 पुरुष पर औरतन के संख्या के रूप में बतावल जाला आ साल 2011 के जनगणना के हिसाब से ई 940 बाटे (मतलब 1000 पुरुष पर 940 औरत)।

अलग-अलग क्षेत्र में ई आँकड़ा में काफी अंतर भी देखे के मिले ला। चित्र में पुरा दुनिया के नक्शा में एही के देखावल गइल बाटे।

शहर

शहर बड़हन आकार के मानव आबादी वाला जगह होला। शहरन में कई प्रकार के सुविधा उपलब्ध रहेला, आवागामन-यातायात के साधन के साथ साथ बजार, सिनेमा हॉल, अस्पताल, कॉलेज, बैंक आदी सब कुछ के सुविधा उपलब्ध रहेला। इहे कारण बा कि गाँव के अपेक्षा शहर में बेसी लोग रहेला। बेसी लोगन के रहे खातिर ऊँच-ऊँच भवन, घुमे फिरे खातिर पार्क नियर चीज सभ रहेला।

इतिहासी रूप से, दुनियाँ के बहुत कम्मे आबादी शहर में निवास करत रहल बा, हालाँकि, पछिला दू सदी में शाहीकरण अतना तेजी से भइल बा कि अब बिस्व के लगभग आधा से बेसी जनसंख्या शहरन में निवास करत बा। एह घटना के बिबिध परभाव सभ में बैस्विक सस्टेनबिलिटी पर दबाव भी एगो प्रमुख चिंता के बिसय बाटे। आज्काल्ह के शहर सभ में आमतौर पर में शहर भा कोर एरिया, मेट्रो एरिया आ आसपास के कम्यूटर जोन होला। आसपास के लोग रोजगार से ले के बिबिध मकसद से शहरन के ओर खिंचाव महसूस क्र रहल बा आ शहर में बस रहल बा। बैस्वीकरण के एह जुग में आ कम्युनिकेशन के साधन देख के इहो देखल जा रहल बा कि शहर सभ आपस में बहुत ऊँच डिग्री तक कनेक्टिविटी वाला हो चुकल बाड़ें।

दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बंगलौर (बंगलुरु) आ हैदराबाद नियर कुछ शहर भारत देस के प्रमुख शहर सभ में गिनल जालें।

हाइड्रोजन

हाइड्रोजन (अंगरेजी: Hidrogen) एगो रासायनिक तत्व बा। एकर रासायनिक चीन्हा H (अंगरेजी के कैपिटल अच्छर "एच"/"यच") हवे। ई तत्व पृथ्वी के वातावरण में गैस के रूप में पावल जाला आ आम वायुमंडली हवा से हल्लुक गैस हवे। आमतौर पर ई H2 के रूप में पावल जाला जबकि ऊपरी वायुमंडल में एकर मालीक्यूलर लेयर भी पावल जाले जहाँ ई "H" रुपी अणु के रूप में मिले ला।

हिंदी भाषा

हिंदी भाषा (शाब्दिक अरथ:हिंद के भाषा) मुख्य रूप से भारत के हिंदी प्रदेश में, आ अन्य भाषा के रूप में पूरा भारत आ भारत से बाहर रहे वाला भारतीय लोग द्वारा बोलल जाए वाली एक ठो भाषा हवे। भाषा बिज्ञान के अनुसार ई इंडो-आर्य समूह के भाषा हवे। खड़ी बोली के मानकीकरण से हिंदी आ उर्दू दुनों भाषा सभ के उत्पत्ति मानल जाले, हिंदी भाषा जहाँ संस्कृत से आपन ज्यादातर शब्द लिहले बा ओहिजे उर्दू में ज्यादातर शब्द फ़ारसी आ अरबी मूल के मिलेला। हिंदी-उर्दू के मिलल-जुलल रूप, जवन काफी संख्या में आम जन के आ सिनेमा जगत भाषा बाटे ओकरा के हिंदुस्तानी भी कहल जाला।

मानक हिंदी, हिंदी के अइसन रूप हवे जेह में संस्कृत के परभाव ज्यादा बा आ जवन तकनीकी शब्दावली, सरकारी कामकाज आ साहित्य के भाषा बाटे। ई भारत के राजभाषा (राष्ट्रभाषा नाहीं) भी हवे हालाँकि बहुत जगह सरकारी कामकाज अंगरेजी में भी होला। मानक हिंदी के अलावा हिंदी बोली सभ के समूह बा जिनहन में से कई गो वास्तव में अलग भाषा हईं लेकिन आम शब्दावली में इनहन के हिंदी के बोली या हिंदी भाषा सब के अंतर्गत रखल जाला। हिंदी पर क्षेत्रीय भाषा के परभाव से लहजा इत्यादि में अंतर के कारण बिहारी हिंदी या भोजपुरी-हिंदी इत्यादि के अनौपचारिक वर्गीकरण भी मिले ला।

हिंदी भाषा के देवनागरी लिपि मे लिखल जाला, हालाँकि अंगरेजी के बढ़त परभाव के कारण कुछ लोग एकरा के रोमन लिपि में भी लिखे ला, खासतौर पर इंटरनेट आ चैटिंग इत्यादि में। हिंदी आ इंग्लिश के मिला-जुला रूप के हिंग्लिश के नाँव भी दिहल गइल बा।

भारत में 258 मिलियन लोग पहिली भाषा के रूप में आ 120 मिलियन लोग दूसरी भाषा के रूप में हिंदी बोले वाला बतावल जाला। 2001 में भारत के जनगणना के आँकड़ा अनुसार भारत में कुल 42 करोड़ से ढेर लोग के मातृभाषा हिंदी हवे (हालाँकि एह आंकड़ा में भोजपुरी नियर भाषा बोले वाला लोग सब के भी सामिल कइल गइल बा) आ एकरे बाद लगभग 12 करोड़ लोग के दूसरी भाषा हवे।हिंदी के साहित्य में आमतौर पर मध्य क्षेत्र के बोली सब में भइल 11वीं सदी के आसपास तक ले के रचना सभ से ले के आधुनिक काल तक के हिंदी में भइल रचना सभ के गिनल जाला।

दुसरी भाषा में

This page is based on a Wikipedia article written by authors (here).
Text is available under the CC BY-SA 3.0 license; additional terms may apply.
Images, videos and audio are available under their respective licenses.